12 राशि नाम और अक्षर | 12 Rashi Name | बारह राशि के नाम

In this post we are going to share with you all 12 Rashi Names (Zodiac Signs Name) with Rashi name chart In Western astrology, astrological signs are the twelve 30-degree sectors that make up Earth’s 360-degree orbit around the Sun.

It is not that the zodiacs have been created without any facts, calculations, and information about the planet taken to make it. Which is considered more scientific.

Anyway, astrology has special importance in Hinduism, so special importance has been given to your birth chart. Through this, all kinds of problems occurring in your life are detected, so that you can solve them in time.

On the basis of all these zodiac signs, your future is checked. Nowadays you get its information in the newspaper also, but this information is for a specific amount.

If you want to know complete information about yourself, then you can show your birth chart to the astrologer, which gives you accurate information.

The signs enumerate from the first day of spring known as the First Point of Aries which is the vernal equinox

12 Rashi Name List in Hindi + English | 12 राशि नाम

1. मेष (Aries): मेष राशि राशि चक्र की प्रथम राशि है जिसका स्वामी ग्रह मंगल होता है। इस राशि का राशि चिन्ह ”मेढा’ या भेडा है, तथा मेष राशि पूर्व दिशा की घोतक मानी जाती है। मेष राशि में जन्म लेने वाले जातक आकर्षक और कलात्मक होते हैं। यह लोग स्वतंत्र विचार के होते हैं और सही गलत में इनका अपना दृष्टिकोण होता है यह लोग अपना रास्ता स्वयं तय करते हैं और खतरों से घबराते नहीं है।

राशिमेष (Aries)
स्वामीमंगल
भाग्यशाली अंक9 एवं 18, 27, 36, 45, 54, 63, 72.
शुभ रंगलाल
शुभ दिनमंगलवार

2. वृषभ (Taurus): यह राशि चक्र की दूसरी राशि है जिसका स्वामी ग्रह शुक्र होता है।तथा राशि चिन्ह बैल है, क्योंकि बैल को स्वभाव से बहुत ही परिश्रमी एवं वीर्यवान माना जाता है। वैसे तो वह शांत रहता है लेकिन क्रोध आने पर बहुत अधिक उग्र हो जाता है। इस राशि के जातकों में भी यही स्वभाव पाया जाता है। इस राशि के लोगों में धन कमाने की इच्छा बहुत अधिक होती है और बुध की प्रबलता होने के कारण जमा योजनाओं में अधिक विश्वास रखते हैं।

See also  गोवर्धन पूजा मंत्र | Govardhan Puja Mantra, Aarti, Puja Vidhi in Sanskrit PDF
राशिवृषभ (Taurus)
स्वामीशुक्र
भाग्यशाली अंक 6, 15, 24, 33, 42, 51.
शुभ रंगनीला व जामुनी
शुभ दिनशुक्रवार

3. मिथुन (Gemini): मिथुन राशि चक्र की तीसरी राशि है जिसका उद्भव मिथुन तारामंडल माना जाता है इस राशि का स्वामी बुध को माना जाता है। इस राशि के जातकों में संचार का अच्छा कौशल होता है और स्मार्ट और बुद्धिमान होते हैं। मिथुन राशि पश्चिम दिशा की घोतक मानी जाती है इस राशि के जातकों में मन की बातें पढ़ने, दूर दृष्टि बहुमुखी तथा चतुरता से कार्य करने की क्षमता होती है और इन्हें बुद्धि वाले कार्यों में सफलता मिल पाती है।

राशिमिथुन (Gemini)
स्वामीबुध
भाग्यशाली अंक5, 14, 23, 38, 41, 68..
शुभ रंगपीला व केसरिया
शुभ दिनबुधवार

4. कर्क (Cancer): राशि चक्र की यह चौथी राशि है, इस राशि को उत्तर दिशा का घोतक माना जाता है इसका राशि चिन्ह केकड़ा होता है। इस राशि का स्वामी चंद्रमा है। कर्क राशि के जातक बड़ी योजनाओं का सपना देखने वाले होते हैं वह परिश्रमी होते हैं।

राशिकर्क (Cancer)
स्वामीचंद्रमा
भाग्यशाली अंक2, 11, 20, 29, 38, 47…. एवं 7, 16, 25, 34, 43…
शुभ रंगसफेद, समुद्री हरा या हल्का नीला
शुभ दिनसोमवार

5. सिंह (Leo): यह राशि चक्र की पांचवी राशि है इस राशि को पूर्व दिशा का घोतक माना जाता है। इसका चिन्ह शेर होता है। सिंह राशि का स्वामी सूर्य है तथा राशि तत्व अग्नि है। सिंह राशि वाले जातक के पास जंगल के राजा शेर के समान नेतृत्व क्षमता होती है। और इस राशि के जातक बीच में दखलंदाजी बर्दाश्त नहीं कर पाते। सिंह राशि को बहुत ही प्रभावशाली राशि भी माना जाता है।

राशिसिंह (Leo)
स्वामीसूर्य
भाग्यशाली अंक1, 10, 28, 37, 46, 55, 64.. एवं 4, 13, 22, 31, 40, 58, 67, 76..
शुभ रंगनारंगी
शुभ दिनरविवार

6. कन्या (Virgo): यह राशि चक्र की छठवीं राशि है यह दक्षिण दिशा की घोतक है। इस राशि का राशि चिन्ह हाथ में फूल की डाली लिए कन्या है। इस राशि का स्वामी बुध है। कन्या राशि के लोग पढ़ाई अध्ययन में रुचि रखते हैं। तथा इस राशि के जातक स्वास्थ्य कल्याण पर अधिक ध्यान देते हैं।

See also  Hanuman Chalisa Gujarati PDF | હનુમાન ચાલીસા ગુજરાતી

7. तुला (Libra): तुला राशि चक्र की सातवीं राशि है। इस राशि का चिन्ह तुला लिए खड़े व्यक्ति के रूप में होता है। तथा इस राशि का ग्रह स्वामी शुक्र होता है।

8. वृश्चिक (Scorpio): वृश्चिक राशि राशि चक्र की आठवीं राशि है इस राशि का चिन्ह बिच्छू होता है। तथा स्वामी मंगल ग्रह है। इस राशि के जातक नंबर एवं कोमल हृदय वाले होते हैं। तथा जाति धर्म में कोई भेदभाव नहीं करते और सभी को ईश्वर का एक ही अंश मानते हैं। इस राशि के व्यक्तियों का स्वभाव संवेदनशील होता है तथा अपने जीवन में बहुत सफलता पाते हैं तथा कभी हार नहीं मानते।

9. धनु (Saggitarius): धनु राशि राशि चक्र की नवी राशि है। किस राशि का चिन्ह आधा मानव जो हाथ में धनुष लिए होता है। यह चिन्ह इस राशि के जातकों का उद्देश्य लक्ष्य एवं दृढ़ संकल्प को दर्शाता है। यह बहुत ही गतिशील एवं समाज प्रेमी होते हैं तथा इस राशि का स्वामी ग्रह गुरु है। इन्हें खाली बैठना बिल्कुल पसंद नहीं होता तथा इनके अंदर हर चीज को लेकर उत्साह होता है इन राशि के लोगों को किताबों से लगा होता है।

10. मकर (Capricorn): मकर राशि, राशि समूह की दसवीं राशि है। इसका स्वामी शनि है। तथा इसका राशि चिन्ह मगरमच्छ होता है। इस राशि को त्याग एवं बलिदान की राशि माना जाता है। इस राशि के जातक विवेक बुद्धि युक्त, व्यवहारिक होते हैं। इन लोगों में उपहास का भय लगा रहता है। और जिस कारण से यह समूह में बोल नहीं पाते। इनके लिए शुभ दिन शनिवार एवं शुक्रवार होता है।

11. कुम्भ (Aquarius): यह राशि चक्र की 11वीं राशि है तथा इस का स्वामी शनि है। कुंभ राशि के जातक जन्म से ही शांत एवं शर्मीले होते हैं, वहीं दूसरी ओर इनका स्वभाव सनकी एवं ऊर्जावान हो सकता है। तथा इन्हें दूसरे लोगों की मदद करना पसंद होता है।

12. मीन (Pisces): यह राशि चक्र की 12वीं राशि है, इस राशि का ग्रह स्वामी गुरु होता है। मीन राशि का राशि चिन्ह दो मछलियां होती हैं। इस राशि के जातकों में करुणा की भावना होती है यह दार्शनिक होते हैं। इस राशि के लोगों में एकाग्रता एवं निरंतरता नहीं होती। यह लोग रोमांटिक जीवन जीते हैं तथा साहसी एवं स्पष्ट होने वाले विचारशील व्यक्ति होते हैं।

12 राशियों के नाम और सम्बंधित अक्षर

राशिअक्षर
मेष / Meshचू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ
वृषभ / Vrishabhaई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो
मिथुन / Mithunका, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह
कर्क / Karkही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो
सिंह / Singhमा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे
कन्या / Kanyaढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो
तुला / Tulaरा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते
वृश्चिक / Vrishchikतो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू
धनु / Dhanuये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे
मकर / Makarभो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी
कुंभ / Kumbhगू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा
मीन / Meenदी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची

If the download link provided in the post (12 राशि नाम और अक्षर | 12 Rashi Name | बारह राशि के नाम) is not functioning or is in violation of the law or has any other issues, please contact us. If this post contains any copyrighted links or material, we will not provide its PDF or any other downloading source.

Leave a Comment

Join Our UPSC Material Group (Free)

X