Latest Article

12वीं में 60% लाने वाला बना IAS TOPPER Junaid Ahmad | Success Story In Hindi

कोशिश...करने...वाले...की...कभी...हार...नहीं...होती..
यह लाइनें तो आपने बहुत बार सुनी होगी जोकि जुनैद अहमद ने अपनी लाइफ में करके दिखाया है, आज हम बात करने वाले हैं उत्तर प्रदेश के बिजनौर शहर के रहने वाले IAS Topper junaid ahmed बारे में जिन्होंने UPSC (Union Public Service Commission) 2018 मे देशभर में तीसरा स्थान हासिल किया है |


IAS Topper Junaid Ahmed Success Story In Hindi



आपको बता दें कि 28 साल के जुनैद अहमद एक मध्यमवर्गीय मुस्लिम परिवार से Belong करते हैं Junaid Ahmed के पिता श्री जावेद हुसैन एक वकील है तथा उनकी माता Aysha Raza एक Housewife है, जब जुनैद अहमद ने IAS की परीक्षा टॉप किया तब उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया कि वह उत्तर प्रदेश के बिजनौर नगीना कस्बे में पले बढ़े, उन्होंने यह भी बताया कि वह बचपन से ही पढ़ाई में औसत छात्र थे और 12वीं में उनके लगभग 60% अंक आए थे |

12वीं परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद उन्होंने नोएडा शारदा यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई शुरू की वहां भी उनके केवल 65% अंक ही आए |
जब जुनैद अहमद ने अपनी कॉलेज की पढ़ाई Complete  कर दी तो उन्होंने सोचा कि समाज के लिए कुछ अच्छा कार्य करना चाहिए इसके लिए उनके पास IAS अच्छा कोई विकल्प नहीं था |

IAS Success Story In Hindi

इसके बाद से ही Junaid खुद को पढ़ाई में पूरी तरह ढाल दिया लेकिन कोई भी काम इतना आसान नहीं होता जुनैद को बीच-बीच में मुसीबतें भी आती रही लेकिन उन्होंने खुद के इरादों को पक्का कर लिया था कि वह आईएस बन सकते हैं |

आईएएस बनने के लिए की गई Hard work द्वारा जुनैद अहमद ने NCERT की किताबों को अपना Startup बनाया और एनसीईआरटी की Books से ही अपनी पढ़ाई की शुरुआत की |

IAS बनने के लिए किया कठिन परिश्रम

वह सुबह जल्दी उठकर अपनी तैयारी में जुट जाते वह लगभग 1 दिन में 9–10 घंटे पढ़ाई किया करते थे और पढ़ाई के बाद खुद को रिफ्रेश करने के लिए sports खेला करते थे एवं जिम का सहारा लिया करते थे |
उन्होंने आईएएस बनने की कोचिंग jamia millia islamia (News Delhi) से ली थी |

4 year तक Hard work करने के बाद Junaid इंडियन रिवेन्यू सर्विस में selection हो गया क्योंकि वे एक IAS बनना चाहते थे, इसलिए वे रुके नहीं और अपने 5th attempt में IAS इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस की परीक्षा clear कर दी, आज वो एक UPSC के टॉपर बनकर हमारे सामने हैं तथा उन्हें इस परीक्षा में तीसरा स्थान प्राप्त हुआ |

आज वह हर किसी UPSC ASPIRANT छात्रो के लिए प्रेरणा बन चुके हैं उन्होंने यह संदेश भी दिया है कभी भी असफलता से घबराए मत Hard Work और एकाग्रता से ही आप अपनी सफलता को पा सकते हैं |

Post a Comment

0 Comments