Jhansi Ki Rani Story in Hindi

Download PDF of Jhansi Ki Rani Story in Hindi

झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई का जन्म वाराणसी में 19 नवम्बर 1828 को हुआ था इनके बचपन का नाम मणिकर्णिका था तथा इन्हे लोग प्यार से मनु कहा करते थे इनकी माँ भागीरथीबाई तथा पिता का नाम मोरोपंत तांबे था।

इन्हे बचपन से ही शास्त्रों की शिक्षा मिल गई थी बाद में जाकर इनका विवाह राजा गंगाधर राव नेवालकर के साथ हुआ और वे झाँसी की रानी बनीं।

झाँसी 1857 के संग्राम का एक प्रमुख केन्द्र बन गया जहाँ हिंसा भड़क उठी। रानी लक्ष्मीबाई ने झाँसी की सुरक्षा को सुदृढ़ करना शुरू कर दिया और एक स्वयंसेवक सेना का गठन प्रारम्भ किया।

इस सेना में महिलाओं की भर्ती की गयी और उन्हें युद्ध का प्रशिक्षण दिया गया। साधारण जनता ने भी इस संग्राम में सहयोग दिया। झलकारी बाई जो लक्ष्मीबाई की हमशक्ल थी को उसने अपनी सेना में प्रमुख स्थान दिया।

You all can download complete Jhansi Ki Rani Story from the given link below which is free available for all readers.

LanguageHindi
Size36 MB
AuthorBalawant Parasnis
SourceOnline

Download PDF Now

Leave a Comment

You cannot copy content of this page