RSS Prarthana pdf Download (Namaste Sada Vatsale)

You are currently viewing RSS Prarthana pdf Download (Namaste Sada Vatsale)

संघ की प्रार्थना नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे Rashtriya Swayamsevak Sangh (RSS) prarthana Namaste Sada Vatsale

नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रार्थना है। सम्पूर्ण प्रार्थना संस्कृत में है केवल इसकी अन्तिम पंक्ति (भारत माता की जय!) हिन्दी में है। इसे सर्वप्रथम २३ अप्रैल १९४० को पुणे के संघ शिक्षा वर्ग में गाया गया था। यादव राव जोशी ने इसे सुर प्रदान किया था। संघ की शाखा या अन्य कार्यक्रमों में इस प्रार्थना को अनिवार्यतः गाया जाता है और ध्वज के सम्मुख नमन किया जाता है।

RSS Prayer संघ की प्रार्थना

नमस्ते सदा वत्सले मातृभूमे
त्वया हिन्दुभूमे सुखं वर्धितोहम्।
महामङ्गले पुण्यभूमे त्वदर्थे
पतत्वेष कायो नमस्ते नमस्ते॥ १॥

प्रभो शक्तिमन् हिन्दुराष्ट्राङ्गभूता
इमे सादरं त्वां नमामो वयम्
त्वदीयाय कार्याय बध्दा कटीयम्
शुभामाशिषं देहि तत्पूर्तये।

अजय्यां च विश्वस्य देहीश शक्तिं
सुशीलं जगद्येन नम्रं भवेत्
श्रुतं चैव यत्कण्टकाकीर्ण मार्गं
स्वयं स्वीकृतं नः सुगं कारयेत्॥ २॥

समुत्कर्षनिःश्रेयस्यैकमुग्रं
परं साधनं नाम वीरव्रतम्
तदन्तः स्फुरत्वक्षया ध्येयनिष्ठा
हृदन्तः प्रजागर्तु तीव्रानिशम्।

विजेत्री च नः संहता कार्यशक्तिर्
विधायास्य धर्मस्य संरक्षणम्।
परं वैभवं नेतुमेतत् स्वराष्ट्रं
समर्था भवत्वाशिषा ते भृशम्॥ ३॥

॥ भारत माता की जय ॥

RSS Prarthana pdf Download (Namaste Sada Vatsale Lyrics pdf)

REPORT THIS

If the download link of RSS Prarthana pdf Download (Namaste Sada Vatsale) is not working or if any way it violates the law or has any issues then kindly Contact Us. If RSS Prarthana pdf Download (Namaste Sada Vatsale) contain any copyright links or material then we will not further provide its pdf and any other downloading source.

guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Tejpal Singh
Tejpal Singh
1 month ago

Best RSS PRAYER

Tejpal Singh
Tejpal Singh
1 month ago

BEST RSS PRAYER