सरस्वती वंदना | Saraswati Vandana PDF

Download PDF of सरस्वती वंदना | Maa Saraswati Vandana With Lyrics

Hello friends, today we have brought for all of you Maa Saraswati Vandana With Lyrics in Hindi Saraswati Vandana is sung in all schools Saraswati Vandana describes the qualities of goddess Saraswati.

That’s why all of you must worship Maa Saraswati, which is necessary for happiness in your life. Saraswati mata is Hindu goddess of knowledge, music, art, speech, wisdom, and learning.

Name Saraswati Vandana
LanguageSanskrit / Hindi
Size400 KB
Total Pages3

सरस्वती वंदना को सभी विद्यालयों में गाया जाता है सरस्वती वंदना में मां सरस्वती के गुणों का वर्णन किया गया है जो व्यक्ति मां सरस्वती वंदना को रोजाना बोलता है उसका जीवन सदैव सुखी रहता है इसीलिए आप सभी जरूर मां सरस्वती की वंदना अवश्य करें जो कि आपके जीवन में सदैव सुखी के लिए आवश्यक है।

सरस्वती वंदना हिंदी लिरिक्स

या कुन्देन्दुतुषारहारधवला या शुभ्रवस्त्रावृता
या वीणावरदण्डमण्डितकरा या श्वेतपद्मासना ।
या ब्रह्माच्युत शङ्करप्रभृतिभिर्देवैः सदा वन्दिता
सा मां पातु सरस्वती भगवती निःशेषजाड्यापहा ॥1 ॥

Ya kundendu tushara haara dhavala, ya shubhra vastravrita
yaa veena vara danda mandithakara, ya shwetha padmaasana

Ya brahmachyuthaha shankara prabrithibhi devai, sada poojitha
Samaam paatu saraswathi bhagavathi, nihshesha Jaddyapaha

हिंदी अनुवाद— जो विद्या की देवी सरस्वती जो कि कुंद के फूल चंद्रमा हिमराशि और मोती के हार के समान धवल वर्ण की है तथा जो सफेद वस्त्र धारण की हुई है जिनके हाथ में वीणा दंड शोभा करता है तथा जिन्होंने सफेद कमलों पर आसन ग्रहण किया हुआ है तथा ब्रह्मा विष्णु और महेश आदि देव द्वारा सदैव पूजी जाती है वह इस संपूर्ण जड़ता अर्थात मूर्खता और अज्ञानता को दूर करने वाली ऐसे सरस्वती देवी हमारी सदैव रक्षा करें

शुक्लां ब्रह्मविचार सार परमामाद्यां जगद्व्यापिनीं
वीणा – पुस्तकधारिणीमभयदां जाड्यान्धकारापहाम्
हस्ते स्फाटिकमालिकां विदधतीं पद्मासने संस्थिताम्
वन्दे तां परमेश्वरी भगवतीं बुद्धिप्रदां शारदाम् ॥2 ॥

shuklam brahmavichar saar parmadham jagadvyapini
veena pustakdharinimabhayadam jadyandhkarapaham

haste sfatikmaalikaam vidadhatim padmasane sansthitaam
vandetaam parmeshwari bhagwatim buddhipradam shardaam

हिंदी अनुवाद— जो शुक्लवर्ण वाली है तथा इसे संपूर्ण चराचर जगत में व्याप्त है साथ ही साथ आदिशक्ति परब्रह्मा के विषय में किए गए विचार एवं चिंतन के सार के रूप में परम उत्कर्ष धारण की हुई है इसके अलावा सभी भयों से अभयदान करने वाली है
तथा अज्ञान के अंधेरों को मिटाने वाली और हाथों में वीणा एवं पुस्तक एवं स्फटिक की माला धारण की हुई है और पद्मासन पर विराजमान है और बुद्धि प्रदान करने वाली है इन सभी सर्वोच्च ऐश्वर्या से अलंकृत भगवती शारदा यानी सरस्वती देवी कि मैं वंदना करता हूं।

Download PDF Now

Leave a Comment