Rajkot Update News : Link Aadhaar With Voter List 2022

Rajkot Update News : link-aadhaar-with-voter-list (Step By Step Process in Hindi)

Rajkot Update News : link-aadhaar-with-voter-list लोकसभा में सरकार के द्वारा निर्वाचन विधि विधेयक में संशोधन करने के लिए 2021 में Bill को लाया गया, जिसे मंजूरी प्रदान कर दी गई है.

सरकार ने इस प्रकार की संशोधन को लाने के पीछे यह तर्क दिया है कि इससे फर्जी मतदान रोकने में सहायता मिलेगी तथा जिन लोगों के नाम सूची में एक से अधिक बार आते हैं उसे रोकने में भी सहायता मिलेगी. check below how can you link aadhar with voter list.

आखिरकार क्या है, मतदाता सूची को आधार से जोड़ने वाला Bill?

अभी तक आप जब भी अपना वोटर आईडी बनाने के लिए जाते थे तो इसके लिए आपको कोई भी आईडेंटिटी प्रूफ देना होता था साथ ही एड्रेस वेरीफाई करने के लिए एड्रेस प्रूफ दिया जाता था लेकिन इसमें किसी भी प्रकार से आधार से जोड़ने की प्रक्रिया नहीं थी.

आज के समय में आधार कार्ड को बैंक, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस सभी के साथ लिंक किया जा रहा है, लेकिन इसके अंतर्गत वोटर आईडी कार्ड नहीं आता था.

सरकार के द्वारा विधेयक में संशोधन करने के बाद अब से सभी वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक किया जाएगा. आगे आने वाले कुछ सालों में यह प्रक्रिया तेजी से आगे बढ़ेगी तथा सभी Voter Card को कुछ सालों के अंदर ही आधार कार्ड से लिंक कर दिया जाएगा.

वोटर आईडी को आधार कार्ड से लिंक करने के फायदे

हालांकि विपक्षी दलों के द्वारा मतदाता सूची को आधार कार्ड से लिंक कराने का विरोध किया जा रहा है. जबकि इस बीच सरकार संशोधन के फायदे गिनवा रही है. Government के द्वारा इसके निम्न फायदे बताए गए हैं-

  • इस ऐतिहासिक कदम से वोटर लिस्ट एवं स्पष्ट होगी.
  • एक व्यक्ति का नाम विभिन्न वोटर लिस्ट पर आने की समस्या से छुटकारा मिलेगा.
  • फर्जी वोटर आईडी को हटाया जा सकेगा.
  • आसानी से वोटर कार्ड बनाने में सहायता मिलेगी.
  • सरकार ने कहा कि अब तक एक मतदाता का नाम विभिन्न वोटर लिस्ट में आता था लेकिन आधार कार्ड लिंक करने के बाद अब यह समस्या समाप्त हो जाएगी.

वोटर लिस्ट को आधार कार्ड से जोड़ने के नुकसान

विपक्ष के द्वारा आधार कार्ड और वोटर लिस्ट को लिंक करने का विरोध किया जा रहा है, उनके अनुसार ऐसा करने से वोटर कार्ड की सभी जानकारी सरकार के पास होगी, जोकि प्राइवेसी के लिए खतरा है. साथ ही लोकतंत्र के लिए भी खतरा है.

आधार कार्ड को वोटर आईडी से लिंक करने का तरीका

  1. सबसे पहले आप वोटर आईडी की ऑफिशल वेबसाइट eci.gov.in पर जाइए.
  2. उसके बाद अपने मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी से स्वयं को लॉगिन कर लीजिए.बा
  3. उसके बाद अपना वोटर आईडी नंबर डालकर अपने प्रोफाइल में आ जाइए.
  4. अब आपको सभी प्रकार की जानकारी जैसे राज्य जिला और नाम जन्मतिथि पिता का नाम आदि रजिस्टर करना है.
  5. उसके बाद आपके सामने फीड आधार नंबर का ऑप्शन दिखाई देगा.
  6. आप अपना आधार नंबर यहां पर भरना है.
  7. सभी प्रकार की डिटेल्स को भरने के बाद अंत में समिति के बटन पर क्लिक करना है.
  8. आधार कार्ड और वोटर लिस्ट की लिंक होने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

BLO के पास जाकर आधार कार्ड और वोटर आईडी को लिंक करने की प्रक्रिया

जो व्यक्ति वेबसाइट या s.m.s. के माध्यम से इस प्रक्रिया को करने में असमर्थ हैं वे लोग बीएलओ के पास जाकर भी आसानी से लिंक करने की प्रक्रिया पूरी कर सकते हैं.

  1. सबसे पहले आप अपनी नजदीकी बूथ लेवल ऑफिसर से संपर्क करें और आधार कार्ड और वोटर आईडी लिंक करने का फॉर्म प्राप्त करें.
  2. सभी प्रकार की डिटेल भरकर इसे बूथ लेवल ऑफिसर के पास जमा कराएं.
  3. बीएलओ के द्वारा यह एप्लीकेशन आगे वेरीफाई करने के लिए सबमिट कर दी जाएगी.
  4. बहुत जल्दी कि आपका आधार कार्ड वोटर लिस्ट के साथ लिंक हो जाएगा.

SMS के जरिए आधार को वोटर आईडी से लिंक करने की प्रक्रिया

  1. इसमें आपको सबसे पहले अपने मोबाइल में मैसेज ऐप को खोलना है.
  2. यहां पर आपको दिए गए फॉर्मेट में लिखते हुए 166 या 51969 नंबर पर एसएमएस भेजना है के बाद आपकी आधार और वोटर आईडी को लिंक करने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

आधार कार्ड को वोटर आईडी से लिंक ना कराने पर क्या होगा?

सरकार के द्वारा यह स्पष्ट कर दिया जा चुका है, कि जो लोग अपनी वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड के साथ लिंक नहीं करते हैं, उन लोगों को वोट देने से रोका नहीं जाएगा. तथा लिंक करने की प्रक्रिया जल्द ही पूरी करने पर ध्यान दिया जाएगा.

जो लोग नया वोटर आईडी कार्ड बनवाने जा रहे हैं, उन लोगों से सरकार की यह अपील है, कि वे लोग अपने वोटर आईडी को आधार से लिंक जरूर करवाएं.

Leave a Comment

You cannot copy content of this page