हिंदी दिवस पर भाषण | Hindi Diwas Speech PDF in Hindi

Download PDF of Hindi Diwas Speech (हिंदी दिवस पर भाषण)

प्रत्येक वर्ष हिंदी दिवस 14 सितम्बर को पूरे भारत में मनाया जाता है इसके मनाने के पीछे का बहुत बड़ा कारण है भारत देश में हिंदी बोलने वालो की संख्या। भारत के अधिकतर क्षेत्रों में हिंदी बोली जाती है इसलिए 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने का निर्णय लिया ताकि इसका प्रसार प्रत्येक क्षेत्र में हो सके। वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष हिन्दी-दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन विधालयो कॉलेजो तथा सरकारी दफ्तरों में हिंदी दिवस पर भाषण दिए जाते है ताकि हर किसी व्यक्ति तक हिंदी का महत्व पहुंच सके।

इतिहास (Hindi Diwas Ka Itihaas)

वैसे हिंदी की तरह इसका इतिहास भी बहुत पुराना है वर्ष 1918 में महात्मा गाँधी जी ने हिंदी भाषा को जनमानष की भाषा कहा और इसे राष्ट्रभाषा का दर्जा देने को कहा था। स्वतंत्र भारत की राष्ट्रभाषा के प्रश्न पर 14 सितम्बर 1949 को काफी विचार-विमर्श करने के बाद यह निर्णय लिया गया की जो भारतीय संविधान के भाग 17 के अध्याय की अनुच्छेद 343(1) में इस प्रकार वर्णित है।

संघ की राष्ट्रभाषा हिन्दी और लिपि देवनागरी होगी। संघ के राजकीय प्रयोजनों के लिए प्रयोग होने वाले अंकों का रूप अन्तरराष्ट्रीय रूप होगा।

कार्यक्रम (Programs)

हिंदी दिवस के दिन कई प्रकार के आयोजन तथा प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है जिसमे कई छात्र-छात्राओं द्वारा भाग लिया जाता है जैसे की हिन्दी निबन्ध लेखन, वाद-विवाद हिन्दी टंकण प्रतियोगिता, भाषण प्रतियोगिता, हिंदी पोस्टर प्रतियोगिता आदि। इस दिन लोगो को हिंदी भाषा के प्रति जागरूक किया जाता है तथा हिन्दी के प्रति सम्मान और दैनिक व्यवहार में हिन्दी के उपयोग करने आदि की शिक्षा दी जाती है।

See also  Marathi Numbers 1 to 100 in Words PDF

हिंदी दिवस के उपलक्ष में विधालयो तथा कॉलेजो में निम्न कार्यक्रमो का आयोजन किया जाता है।

  • हिंदी निबंध लेखन
  • वाद विवाद
  • काव्य गोष्ठी
  • भाषण प्रतियोगिता
  • कवि सम्मलेन
  • श्रुतलेखन प्रतियोगिता
  • स्वरचित कविता

Speech For Students

सुप्रभात मेरे प्यारे दोस्तों और प्रिय शिक्षकगण!

हिंदी दिवस शैक्षिक संस्थानों और सरकारी कार्यालयों में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। आज के अत्यधिक व्यवसायिक वातावरण में जहां लोग अपनी जड़ों को भूल रहे हैं, हिंदी दिवस महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह लोगों को अपनी जड़ों के संपर्क में रहने के लिए प्रोत्साहित करता है, साथ ही साथ हिंदी को भी बढ़ावा देता है। अफसोस की बात है कि कई लोग हैं, जो अपनी मातृभाषा में बोलने में शर्म महसूस करते हैं। यह दिवस हमें यह एहसास दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है कि हिंदी दुनिया की सबसे पुरानी और प्रभावशाली भाषाओं में से एक है और इस तरह हमें अपनी मातृभाषा में बोलने में गर्व करना चाहिए।

हिंदी सीखी हुई भाषा है और इस भाषा में कई साहित्यिक रचनाएं की गई हैं। रामचरितमानस हिंदी की सबसे बड़ी साहित्यिक कृतियों में से एक है। 16वीं शताब्दी में गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित, इसमें राम की कहानी को दर्शाया गया है। हिंदी में कुछ अन्य कृतियां हैं, हरिवंश राय बच्चन द्वारा मधुशाला, मुंशी प्रेमचंद द्वारा निर्मला, देवकी नंदन खत्री द्वारा चंद्रकांता आदि।

हिंदी सबसे पुरानी भाषाओं में से एक है और संस्कृत की वंशज है। हिंदी आधुनिक इंडो-आर्यन भाषाओं की शाखा से संबंधित है। हालांकि, पिछली कई शताब्दियों में हिंदी में कई बदलाव हुए हैं और अंत में अपने वर्तमान स्वरूप में विकसित हुए हैं। हिंदवी, हिंदुस्तानी और खड़ी बोली हिंदी के प्रारंभिक रूप थे।

See also  Asia Map HD PDF

हिंदी दिवस उन लोगों के लिए मुख्य दिन है जो अपने घर में हिंदी भाषा बोल रहे हैं या जो इस भाषा की मातृभाषा रख रहे हैं। भारत देश में बहुत सारी भाषाएं हैं। सभी भाषाओं में, हिंदी भारत देश में महत्वपूर्ण और प्रसिद्ध भाषा है। उपयोग लोगों को हिंदी भाषा बोलने के लिए किया जाता है जो कि उनकी अपनी राष्ट्रीय भाषा है और हिंदी भाषा के बारे में ज्ञान प्राप्त करने के लिए हर व्यक्ति का उपयोग किया जाता है। सरकार ने कई स्कूलों और कॉलेजों को हिंदी भाषा पर ध्यान केंद्रित करने के लिए बनाया है, जिनके पास हिंदी भाषा के बारे में जानकारी नहीं है।

आप सभी हिंदी भाषण Hindi Diwas Speech को फाइल के रूप में निचे से download कर सकते हो जिसमे अलग अलग स्पीच दी गयी है जैसे की छात्रों के लिए टीचर्स के लिए.

Download PDF [4 Speech]

Download 2 PDF

If the download link provided in the post (हिंदी दिवस पर भाषण | Hindi Diwas Speech PDF in Hindi) is not functioning or is in violation of the law or has any other issues, please contact us. If this post contains any copyrighted links or material, we will not provide its PDF or any other downloading source.

Leave a Comment

Join Our UPSC Material Group (Free)

X