Vision IAS Security (सुरक्षा) Notes in Hindi

Download Vision IAS internal security (आतंरिक सुरक्षा) notes in Hindi pdf for UPSC Civil Services Examination (Hindi Medium aantarik suraksha notes)

नमस्कार छात्रों,  आज हम उन सभी हिंदी माध्यम वाले छात्रों के लिए विजन आईएएस की आंतरिक सुरक्षा नोट्स लेकर आए हैं जोकि यूपीएससी सिविल सर्विसेज प्रारंभिक परीक्षा तथा मुख्य परीक्षा दोनों के लिए बहुत ही लाभदायक सिद्ध होंगे, आप इन्हें आसानी से पीडीएफ माध्यम में प्राप्त कर सकते हो।

यूपीएससी की मुख्य परीक्षा में 4 सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्र शामिल है,  जिसमें  सामान्य अध्ययन के प्रश्न पत्र III मे अर्थशास्त्र, आपदा प्रबंधन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी एवं आंतरिक सुरक्षा का विषय शामिल है।

इसके अलावा सुरक्षा तथा आपदा प्रबंधन बहुत ही महत्वपूर्ण विषय हैं प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा दोनों की दृष्टि से, क्योंकि यह विषय करंट अफेयर्स से बहुत अधिक जुड़े हुए हैं। और हर साल इनसे यूपीएससी में प्रश्न भी पूछे जाते हैं इसलिए इसकी तैयारी के लिए आपको पाठ्यपुस्तक के अलावा दैनिक समाचार पत्र एवं करंट अफेयर्स मैगजीन का सहारा भी लेना चाहिए।

अध्याय

  • संचार नेटवर्क के माध्यम से आंतरिक सुरक्षा को चुनौती
  • मनी लॉन्ड्रिंग
  • साइबर सुरक्षा
  • आंतरिक सुरक्षा चुनौतियों में मीडिया और सामाजिक नेटवर्किंग साइटों की भूमिका
  • सुरक्षा चुनौतियों और सीमा क्षेत्रों में उनका प्रबंधन
  • विकास और फैलते उग्रवाद के बीच संबंध

आंतरिक सुरक्षा का महत्व ?

आंतरिक  सुरक्षा से तात्पर्य है कि किसी भी देश की अपनी सीमाओं के भीतर की सुरक्षा। जब तक किसी देश में नागरिकों के बीच असुरक्षा का भाव होता है तो आंतरिक समस्याओं में उलझा देश कभी भी प्रगति की ओर नहीं बढ़ पाता। परंतु किसी भी राष्ट्र को तभी सुरक्षित कहा जाना सही होगा जब तक वह आंतरिक खतरों से पूर्ण रुप से अवमुक्त हो जाए।  और यह उस स्तर के राष्ट्र का निर्माण प्रक्रिया है जब राष्ट्र राष्ट्रीय आकांक्षा के मार्ग में आने वाली सभी बाधाओं से निपटने में सक्षम हो जाता है।

See also  Forum IAS GS-I [Post Independence] Red Book PDF

संचार नेटवर्क के लिए खतरे

संचार नेटवर्क विफल होने से बहुत अधिक क्षति होती है,  इसलिए व्यवधान उत्पन्न करने के लिए यह क्षमतावान सॉफ्ट टारगेट होते हैं। इसलिए नेटवर्क अवसंरचना के प्रति खतरे को व्यापक रूप से दो श्रेणियों में विभाजित किया गया है प्राकृतिक खतरे एवं मानव निर्मित खतरे।

प्राकृतिक खतरे में बाढ़,  भूकंप, सुनामी, तथा ज्वालामुखी जैसी आपदाएं सम्मिलित है। इन सभी प्राकृतिक घटनाओं के कारण संचार नेटवर्क को अधिक क्षति पहुंच सकती है। उदाहरण के लिए कभी-कभी अधिक बारिश होने के कारण बिजली आपूर्ति हो जाती है जिस कारण थे ATM तथा  बैंकिंग सेवाएं काम करना बंद कर देती है।  वही मानव प्रेरित खतरे में दुर्भावनापूर्ण कर्ताओं द्वारा हानि या क्षति के  इरादे से नेटवर्क में वांछित स्थान पर पहुंच  प्राप्त करने के लिए एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर, नियंत्रण प्रणाली सॉफ्टवेयर, हार्डवेयर या यहां तक कि संगठनों के व्यक्तियों के भीतर अंतर्निहित  विरोधो का लाभ उठाते हैं।

मनी लॉन्ड्रिंग

मनी लॉन्ड्रिंग आपराधिक गतिविधियों से उत्पन्न होने वाले अवैध प्राप्ति ओं को छुपाने की एक प्रक्रिया है इस अपराध को 2002 में मनी लॉन्ड्रिंग निवारण अधिनियम के अनुसार इस प्रकार से परिभाषित किया गया था – “जो भी प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से अपराध से हुई आय से संबंधित किसी भी प्रक्रिया या गतिविधि एवं उसे निष्कलंक परिसंपत्ति के रूप में प्रस्तुत करने में संलिप्त होने का प्रयास करता है या जानबूझकर सहयोग करता है या जानबूझकर भागीदारी करता है या वास्तव में संलिप्त है वह मनी लॉन्ड्रिंग के अपराध का दोषी होगा।

साइबर सुरक्षा

सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 2022 के अनुसार साइबर सुरक्षा का अर्थ सूचना उपकरण, कंप्यूटर डिवाइस, कंप्यूटर  संसाधन, संचार उपकरण और उन में संग्रहित जानकारी की अनधिकृत पहुंच, उपयोग, प्रकटीकरण,  व्यवधान एवं संशोधन या विनाश से संरक्षित करना है।

See also  Sriram IAS Economy Notes 2022 PDF For UPSC

Download PDF Now

Leave a Comment