Durga Ashtami Vrat Puja Vidhi & Samagri PDF in Hindi

Download PDF of दुर्गा अष्टमी व्रत की पूजा विधि Durga Ashtami Vrat Puja Vidhi & Pujan Samagri in Hindi

नवरात्रि के आठवें दिन देवी शक्ति के महागौरी (Mahagauri) स्वरूप की अराधना की जाती है। इनकी पूजा से सुख-समृद्धि प्राप्त होती है। अष्टमी के दिन कई लोग व्रत रखते हैं तो कई कन्याओं को भोजन करा अपने नवरात्रि व्रत का पारण करते हैं। नवरात्रि में अष्टमी तिथि का विशेष महत्व माना गया है। क्योंकि इस दिन मां महागौरी की पूजा से समस्त प्रकार के दुखों का नाश हो जाता है। जानिए दुर्गाअष्टमी व्रत (Durga Ashtami) की पूजा विधि तथा पूजन सामग्री लिस्ट।

You all can download Durga Ashtami Vrat Puja Vidhi & Samagri PDF in Hindi from the given link below.

दुर्गा अष्टमी व्रत की पूजा विधि (Durga Ashtami Vrat Puja Vidhi)

  • दुर्गा अष्टमी के दिन अंबे महागौरी की पूजा की जाती है।
  • अष्टमी के दिन आपको सुबह जल्दी उठकर स्नान करके स्वयं को पवित्र कर देना चाहिए।
  • इसके उपरांत आप महागौरी की प्रतिमा या तस्वीर को स्थापित कर लीजिए।
  • उसके उपरांत आप चौकी में एक लाल कपड़ा बिछाकर महागौरी यंत्र की स्थापना करें।
  • अब महागौरी की प्रतिमा के सामने दीपक जलाएं तथा फल फूल अर्पित करें।
  • इसके बाद आप देवी मां की आरती उतारे तथा साथ ही मंत्र उच्चारण करें।
  • इसके उपरांत आपको दुर्गा माता की आठवें रूप को पंचामृत अर्पित करना चाहिए साथ ही उन्हें पांच फल सुपारी किसमिस पान लोंग इलाइची आदि अर्पित करना चाहिए।
  • इस दिन नारियल का भोग लगाना अत्यधिक शुभ माना जाता है अपने आप नारियल के रूप में मिष्ठान अर्पित करें।
  • इस दिन ऐसा माना जाता है कि अगर आप कन्या पूजन करेंगे तो आपके घर में सुख समृद्धि आएगी इसीलिए आपको 2 साल से 10 साल के बीच की नौ कन्याओं को भोजन कराएं तथा उन्हें बाद में दान दक्षिणा दें।

महागौरी के मंत्र (Mahagauri Mantra) :

श्वेत वृषे समारूढ़ा श्वेताम्बर धरा शुचि:।
महागौरी शुभं दद्यान्महादेव प्रमोददा॥

या देवी सर्वभू‍तेषु मां गौरी रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

दुर्गा अष्टमी व्रत पूजा सामग्री (Durga Ashtami Pujan Samagri)

  1. मां दुर्गा की तस्वीर या प्रतिमा
  2. चौकी के लिए लाल कपड़ा
  3. फूलों की माला
  4. कलश
  5. नारियल तथा मिठाई
  6. श्रृगार का सामान
  7. अगरबत्ती धूप बत्ती रुई घी और दीपक
  8. बताशा या मिसरी
  9. लाल चुनरी सिंदूर और चूड़ियां
  10. हवन के लिए आम की लकड़ियां
  11. साफ चावल, कुमकुम और मौली
  12. जौ मेवे कमल सुपारी कपूर हवन कुंड लोबान आदि.

Download PDF Now

Leave a Comment