Munshi Premchand Nirmala PDF Book Novel Free Download

Munshi Premchand Nirmala PDF Book     Novel Download Free in Hindi निर्मला मुंशी प्रेमचंद द्वारा लिखित हिंदी उपन्यास

Premchand Nirmala upanyas pdf Hindi: निर्मला उपन्यास मुंशी प्रेमचंद द्व्रारा लिखित एक प्रचलित उपन्यासो में से एक है निर्मला कहानी में एक करैक्टर का नाम है जो 15 वर्ष की एक बालिका है और उसे एक आदमी से विवाह करने के लिए मजबूर किया जाता है जिसकी उम्र लगभग उसके पिता के बराबर की है इस उपन्यास में उस समय के भारतीय समाज में महिलाओ की स्थिति को दर्शाया गया है किस प्रकार से लड़कियों को कम उम्र में साडी के बंधन में बाँध दिया जाता था यहाँ उपन्यास अपने समय के सबसे लोकप्रिय उपन्यासो में से एक है जिसे आज भी लोग खूब पसंद करते है।

Name of Book: Premchand Nirmala

 Size of PDF: 600Kb

Writer: Munshi Premchand

Language: Hindi

Total Pages: 123

About Nirmala Author Munshi Premchand

धनपत राय श्रीवास्तव जी का जन्म 31 जुलाई 1880 में वाराणसी भारत में हुआ था मुंशी प्रेमचंद जी कियाने 1901 से उपन्यास लिखना प्रारम्भ किया जिसमे उनका पहला लघु उपन्यास बाजारे-हुस्‍न जो की उर्दू भाषा में था उसके बाद उन्होंने कई उपन्यासो की रचना की जिनमे उनके प्रसिद्ध उपन्यास थे वरदान (1912), सेवा सदन (1918), प्रेमश्रम (1922), रंगभूमि (1925), निर्मला (1927), प्रतिज्ञा (1927), गबन (1931), कर्मभूमि (1932), गोदान (1936) शामिल हैं। मुंशी जे के बारे और अधिक जानने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Get Here Book

Join Telegram

i hope you would like Munshi Premchand Nirmala PDF which is very popular novel of all time if you want to download online this novel you all can get it from the given link below you all can buy this pdf online its also available in google drive.

if you like to read novel then you can get from here hope you like this pdf if you like it please share your opinion with us and if you want to download free upsc books, magazine, upsc notes, and others study material so you can visit pdfnotes.co where you can download all pdfnotes free.

DISCLAIMER: PdfNotes.co does not own any pdf / eBook, neither create nor scanned we provide the link which is already available on internet, for any quarries please contact us on Telegram we do not support piracy, these all pdf copy's was provided for students who are financially troubled but deserving to learn.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *